Emotional Sad Shayari For Instagram [✂️ Copy and 📋 Paste]

Emotional Sad Shayari For Instagram [✂️ Copy and 📋 Paste]

If You Are Searching For Emotional Sad Shayari For Instagram Then You Should Follow This Post Till The End Because Here You Will Found Many Emotional Sad Shayari For Instagram . You Can Choose The Best Emotional Sad Shayari For Instagram From Here And Copy And Paste It Into Your Instagram post.

Emotional Sad Shayari For Instagram


Best Emotional Sad Shayari For Instagram :

इस दिल को थी जिससे सबसे ज्यादा आस

वही निकला सबसे ज्यादा धोखेबाज..!


मैंने तुम्हे बेइंतहा मोहब्बत और वक्त दिया

लेकिन तुमने मुझे दर्द और तन्हाई

के सिवा कुछ और नही दिया..!


मुझे खबर ही ना हुई मैं ख्वाब बुनती रही

वो आकर मेरे ख्यालो में चला भी गया..!


पिंजरे से आजाद क्या हुआ

उड़ना भूल गया मैं खुद को

बेहतर बनाने की तलाश में

अपनो को भूल गया मैं..!


इस इश्क में हम भी बदनाम हो गए

तुझे पाने की चाहत में

बेनाम हो गए..!


अपने जज्बातो की कदर कीजिए

जनाब सुना है लोग यहां

अल्फाजो से खेला करते है..!


मैं तो वो टूटता तारा था

जो खुद टूट कर भी तुम्हारे

हर ख्वाब को पूरा करना जानता था..!


ना जाने क्यो इन आंखों

में नमी सी महसूस होती है

तेरी मोहब्बत की यादो में

मेरे दिल की धड़कन तेज होती है..!


मेरे दर्द को भी वो मेरी

शायरी ही समझते रहे

मैं बयान करता गया और

वो वाह-वाह करते गए..!


मेरे खुदा सलामत रखना उनको

जो अभी तुम्हारे पास है क्योकि वो

शख्स हमारे लिए बहुत ही खास है..!


मुझमें इतनी तो खामियां नही

जितनी अब लोग गिना देते है..!


अरे वो पगली इश्क कर बैठी है मुझसे

कोई बताओ तो उसको मुसाफिर हूं मैं..!


किस्मत जब खेल खेलती है

तो नई कहानी रची जाती है

वो ख्वाबो के सपनो की

दुनिया में बवंडर मचा जाती है..!


मैं हर किसी का दिल रखता हूं

पर लोग अक्सर भूल जाया करते है

की मैं भी तो एक दिल रखता हूं..!


लिख देते है दिल के जज्बात में को यूं ही

किताबो पर वरना कौन यकीन करता है

यहां किसी की बातो पर..!


तेरी याद आई है आंखे भर गई

गमों की शाम यूं ही गुजर गई..!


लाजमी है मोहब्बत में बेकरारी

कमबख्त यह इश्क है ही

ऐसी बीमारी जिसे लग जाए

वह बन जाता है भिखारी..!


कभी किसी से मोहब्बत

बेइंतहा ना करना

हम बहुत तड़पे हैं

जनाब आप ना तड़पना..!


वह कर चुका था फैसला

मुझसे अलग होने का

मुझे उससे मिली

दर्दे-ऐ-जुदाई कबूल थी..!


हर आहट पर

ऐसा लगे कि वो आए

उनको दरवाजे पर ना

पाऊं तो दिल मेरा टूट जाए..!


लफ्ज़ मिलते नहीं जज्बात क्या

लिखूं खामोशियां समझते

नहीं अल्फाज क्या लिखूं !


तेरे इश्क को पाना मेरे

मुकद्दर में नही तेरी चाहत

शायद मेरी किस्मत में नही !


दिल तो बेशक मैंने

तुम्हारे हवाले किया था पर

तुमने इसे तोड़कर हमें दर्द दे दिया !


टूटने पर वही लोग मिलते है

जो खो गए हो वह लोग

नही मिलते जो बदल गए हो !


बदलते मौसम की

बात ना करें मैने तो इंसानों

को रंग बदलते देखा है !


जिसके साथ बैठकर खुलकर रो

लेती थी मै आज वही आंखों में

आंसू छोड़कर कही दूर चला गया है !


वो लौट आयी है मनाने को,

शायद आजमा चुकी है जमाने को !


कुछ रिश्ते जिंदगी बदल देते है

मिले तब भी ना मिले तब भी.!


जरुरत से ज्यादा वक़्त और इज़्ज़त

देने से लोग आपको गिरा हुआ

समझने लगते है !


जब कभी फुर्सत मिले मेरे दिल का बोझ उतार दो

मै बहुत दिनों से उदास हूँ मुझे कोई शाम उधार दो !


जरुरत से ज्यादा वक़्त और इज़्ज़त देने से

लोग आपको गिरा हुआ समझने लगते है !


किसी ने पूछा इतना अच्छा कैसे लिख लेते हो

मैने कहा दिल तोड़ना पड़ता है

लफ़्ज़ो को जोड़ने से पहले !


किसी के प्रभाव मे आकर

अपना अच्छा स्वभाव मत छोड़ना !


चलो अब जाने भी दो क्या करोगे दास्ताँ सुनकर

ख़ामोशी तुम समझोगे नही और बयाँ हमसे होगा नही !


खामोशियाँ वही रही ता उम्र दरमियाँ

बस वक़्त के सितम और हसीन होते गए !


Final Word
Let us know in the comments if you already knew about them or if any was a surprise for you. 



Related Posts

Post a Comment